शनिवार, 20 अगस्त 2011

Dekho phir azaan hui (All rights are reserved) (Parody of TERE JAISA YAR KAHAN) देखो फिर अज़ान हुई (सर्वाधिकार सुरक्षित)

( Audio of this "kalaam-e-azaan" is available at the following link:

http://www.esnips.com/doc/79ad5af5-7fee-48a5-bb59-d1d6a54db0e0/004-dhekho-phir )


Dekho phir azaan hui, Rab ne phir bulaya hai
momino chalo masjid, waqt-e-namaaz aya hai

sab kaam chhod kar tum, pehle namaaz padh lo
hai farz ye sabhi pe, isko ada to karlo
ahkaam-e-ibaadat to, Qur'aaN leke aya hai
momino chalo masjid, waqt-e-namaaz aya hai

padhte na jo namaazeN, wo soch leN zara to
denge ba-roz-e-mehshar, wo jawab kya khuda ko
sar pe har namazi ke, rehmatoN ka saya hai
momino chalo masjid, waqt-e-namaaz aya hai

dekho phir azaan hui, Rab ne phir bulaya hai
momino chalo masjid, waqt-e-namaaz aya hai.
---Moin Shamsi
---------------------------------------------------------------------

( इस ""कलाम-ए-अज़ान" को इस लिंक पर सुना जा सकता है:
http://www.esnips.com/doc/79ad5af5-7fee-48a5-bb59-d1d6a54db0e0/004-dhekho-phir )


देखो फिर अज़ान हुई, रब ने फिर बुलाया है
मोमिनो चलो मस्जिद, वक़्त-ए-नमाज़ आया है

सब काम छोड़कर तुम, पहले नमाज़ पढ़ लो
है फ़र्ज़ ये सभी पे, इसको अदा तो कर लो
अहकाम-ए-इबादत तो, क़ुर-आं ले के आया है
मोमिनो चलो मस्जिद, वक़्त-ए-नमाज़ आया है

पढ़ते न जो नमाज़ें, वो सोच लें ज़रा तो,
देंगे ब-रोज़-ए-महशर, वो जवाब क्या ख़ुदा को
सर पे हर नमाज़ी के, रहमतों का साया है
मोमिनो चलो मस्जिद, वक़्त-ए-नमाज़ आया है

देखो फिर अज़ान हुई, रब ने फिर बुलाया है
मोमिनो चलो मस्जिद, वक़्त-ए-नमाज़ आया है ।
---मुईन शमसी

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें