मंगलवार, 2 अगस्त 2011

मुबारक हो सबको (ALL RIGHTS RESERVED)

मुबारक हो सबको है रमज़ान आया MUBAARAK HO SABKO, HAI RAMZAAN AAYA
हज़ारों तरह की ये नेमतें लाया HAZAARO TARAH KI YE NEMATEN LAAYAA
आया रमज़ान आया, रमज़ान आया AAYA RAMZAAN AAYA, RAMZAAN AAYA

ये रोज़ों के दिन हैं तरावीह की रातें YE ROZON KE DIN HAIN TARAAWEEH KI RAATEN
जगाने को सहरी में आतीं जमातें JAGAANE KO SEHRI MEN AATEEN JAMAATEN
निकलती हैं घर-घर से इतनी ज़कातें NIKALTI HAIN GHAR-GHAR SE ITNI ZAKAATEN
कि हक़दार ख़ाली कोई रह न पाया KI HAQADAAR KHAALI KOI REH NA PAAYA
सभी ने मुक़द्दर में जो था वो पाया SABHI NE MUQADDAR MEN JO THA WO PAAYA
आया रमज़ान आया, रमज़ान आया AAYA RAMZAAN AAYA, RAMZAAN AAYA

करो ख़ूब कसरत से बस तुम इबादत KARO KHOOB KASRAT SE BAS TUM IBAADAT
नमाज़ें पढ़ो और करो तुम तिलावत NAMAAZEN PADHO AUR KARO TUM TILAAWAT
करो नेकियां याद रक्खो क़यामत KARO NEKIYAAN YAAD RAKKHO QAYAAMAT
ख़ुदा ने हमें इसलिये ही बनाया KHUDA NE HAMEN ISLIYE HI BANAAYA
यही तो बताने है क़ुरआन आया YAHI TO BATAANE HAI QUR'AAN AAYA
आया रमज़ान आया, रमज़ान आया AAYA RAMZAAN AAYA, RAMZAAN AAYA

यह अफ़्तार का वक़्त कितना हसीं है YEH AFTAAR KA WAQT KITNA HASEEN HAI
सभी रोज़ेदारों की महफ़िल जमी है SABHI ROZADAARON KI MEHFIL JAMI HAI
सुबह से हैं भूके, शिकन इक नहीं है SUBAH SE HAIN BHOOKE SHIKAN IK NAHI HAI
हैं चेहरों पे इनके बड़ा नूर छाया HAI CHEHRON PE INKE BADAA NOOR CHHAAYA
ख़ुदा ने सभी को है साबिर बनाया KHUDA NE SABHI KO HAI SAABIR BANAAYA
आया रमज़ान आया रमज़ान आया । AAYA RAMZAAN AAYA, RAMZAAN AAYA.
---मुईन शमसी ---MOIN SHAMSI
( इस कलाम-ए-रमज़ान को मेरी आवाज़ में सुनने के लिये इस लिंक पर आइये :
http://www.esnips.com/doc/2679ac41-ee91-4ee7-b730-0912642abaf2/001-mubarak )

( To hear this KALAAM-E-RAMZAAN in my voice, visit this link:
http://www.esnips.com/doc/2679ac41-ee91-4ee7-b730-0912642abaf2/001-mubarak )

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें